tik tok

भारत बना सकता है टिक टॉक जैसे ऐप लेकिन बिजनेस मॉडल तैयार करना चुनौती पूर्ण

इंफोसिस के चेयरमैन नंदन नीलेकणी

इंफोसिस के चेयरमैन नंदन नीलेकणी ने कहा कि भारत टिक टॉक जैसा ऐप बना सकता है लेकिन इसके लिए बिजनेस मॉडल तैयार करना आसान नहीं होगा क्योंकि टिक टॉक ऐप भी फेसबुक और गूगल की तरह विज्ञापन से कमाए करता है।

शनिवार को इंफोसिस के चेयरमैन ने कहा भारत में टिक टॉक जैसे ऐप बनाना संभव है लेकिन उनका कहना है कि भारत अभी उतना बड़ा डिजिटल एडवरटाइजिंग मार्केट नहीं है जिसकी वजह से एप्स के लिए बिजनेस मॉडल तैयार करना चुनौतीपूर्ण है।

facebook and google
भारत बना सकता है TikTok जैसे ऐप

उन्होंने कहा कि भारत को दूसरी ऐप कंपनी के बिजनेस एडवरटाइजिंग मॉडल को समझना होगा क्योंकि टिक टॉक की कमाई भी फेसबुक और गूगल की तरह एडवरटाइजिंग से होती है।

उन्होंने यह भी कहा कि भारत को अमेरिका की तरह एक बड़ा डिजिटल मार्केट बनना बाकी है टीवी प्रिंट और डिजिटल में भारत में कुल विज्ञापन खर्च उनके मुकाबले काफी कम होता है यह आंकड़ा लगभग 10 से 12 बिलियन डॉलर है और वही डिजिटल प्लेटफॉर्म पर लगभग 2 से 3 बिलियन डॉलर ही है इसलिए भारत में सभी प्रोडक्ट के डिजिटल एडवरटाइजिंग से कमाई कर पाना मुश्किल है।

Please follow and like us:
Social Share Buttons and Icons powered by Ultimatelysocial
error

Enjoy this blog? Please spread the word :)

error: Content is protected !!