तुलसी और अश्वगंधा से बना कोरोनिल, कोरोना को देगी मात

तुलसी और अश्वगंधा से बना कोरोनिल, कोरोना को देगी मात

आपको बता दे कि बाबा रामदेव ने कुछ दिन पहले कोरोना का दवा निकाला था। हालांकि दवा के प्रचार – प्रसार पर सरकार ने अभी रोक लगा दी हैं। भारत सरकार ने कहा कि जब तक इस दवा का पूर्णतः वैज्ञानिक संशोधन नही हो जाता तब तक आप इस दवा को मार्केट मे लॉन्च न करे। आपको जानकर हैरानी होगी कि बाबा रामदेव ने इस दवा को तुलसी और अश्वगंधा समेत कई चीजो को मिलाकर बनाया हैं। मंगलवार के दिन बाबा रामदेव ने प्रेस कॉन्फरन्स मे मीडिया के सामने कहा कि इस दवा को 95 लोगो पर टेस्ट किया गया हैं और तीन दिन के अंदर लगभग 70 % लोग इससे ठीक हो चुके हैं और सात दिन के अंदर 100% लोग इससे ठीक हो चुके हैं।

कैसे बना कोरोनिल
बाबा रामदेव ने उसी प्रेस कॉन्फरन्स मीटिंग मे बताया कि इस दवा को बनाने के लिये हमने मुलैठी , अश्वगंधा , तुलसी , गिलोय और श्वासारि का उपयोग किया है। गिलोय मे टिनोस्पोराइड पाया जाता हैं। अश्वगंधा मे एंटी बैक्टीरियल पाया जाता हैं।

क्या है कोरोनिल की कीमत
पतंजलि के योग गुरु बाबा रामदेव ने बताया कि इस दवा की कीमत मात्र 600 रुपये हैं। हालांकि जिनके घरो मे इस दवा को खरीदने के लिये 600 रुपये भी नही हैं उनके घरों में ये दवा मुफ्त मे दी जाएगी। उन्होंने बताया कि उनके वैज्ञानिको ने दिन रात मेहनत करके इस दवा को बनाया हैं। अगर केवल जनता कर्फ्यु के दिनो को छोड दिया जाए तो एक दिन भी ऐसा नही गया होगा जिस दिन हमारे वैज्ञानिको ने मेहनत नही की हो।

बाबा रामदेव ने बताया कि ऐसा नही हैं कि इस दवा को केवल वही लोग उपयोग कर सकते जो कोरोना से पीडित हैं। बल्कि वो लोग भी उपयोग कर सकते हैं जो कोरोना से पीडित नही हैं। लौंग , दालचिनी , काली मिर्च , अदरक , तुलसी , मुलैठी , पीपली , गिलोय से बना काढा कोरोना के पुरे देशवासियो से पीने का आग्रह किया था और इस काढा को पीने से कई लोग स्वस्थ भी हुए किंतु इसका दवा बनाना हमारे लिये चूनौतीपूर्ण था। उन्होंने कहा कि हमने योगा के आधार पर कई लोगो को स्वस्थ होते देखा था और अब दवा के कारण भी स्वस्थ होते देख लिया हैं।

Please follow and like us:
Social Share Buttons and Icons powered by Ultimatelysocial
error

Enjoy this blog? Please spread the word :)

error: Content is protected !!